दिल्ली को फिर से खोलने का वक्त आ गया है, हम कोरोना लॉकडाउन हटाने के लिए तैयार- केजरीवाल

COVID-19

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि दिल्ली को फिर से खोलने का वक्त आ गया है और लोगों को कोरोना वायरस के साथ रहने के लिए तैयार रहना होगा। उन्होंने लॉकडाउन 3.0 के दौरान ‘रेड जोन के लिए केंद्र द्वारा निर्धारित सभी छूट राष्ट्रीय राजधानी में देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि दिल्ली लॉकडाउन हटाने के लिए तैयार है। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार सार्वजनिक स्थानों पर थूकने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। केजरीवाल ने ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार केंद्र को यह सुझाव देगी कि शहर में सिर्फ निरुद्ध क्षेत्र को रेड जोन घोषित किया जाए, ना कि पूरे जिले को।

वर्तमान में दिल्ली के सभी 11 जिले रेड जोन घोषित किए गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 कहीं नहीं जा रहा और यह असंभव है कि कोरोना वायरस के मामले शून्य हो जाएं। उन्होंने कहा कि यह असंभव है कि कोरोना वायरस का एक भी मामला सामने नहीं आए…हमें कोरोना वायरस के साथ रहने के लिए तैयार होना होगा। हमें इसका अभ्यस्त होना होगा। दिल्ली सहित देश भर में 25 मार्च से लॉकडाउन लागू है। इसका प्रथम चरण 25 मार्च से 14 अप्रैल तक था। दूसरा चरण 15 अप्रैल से तीन मई तक था। अब लॉकडाउन 3.0 सोमवार (चार मई) से 17 मई तक है।

अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई है

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के चलते सरकार का राजस्व और अर्थव्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुई है। उन्होंने कहा कि दिल्ली लॉकडाउन हटाने के लिए तैयार है। केजरीवाल ने अप्रैल 2019 के आंकड़ों का उल्लेख करते हुए कहा कि सरकार ने पिछले साल अप्रैल में 3,500 करोड़ रुपया अर्जित किया था, जबकि इस साल अप्रैल में उसने सिर्फ 300 करोड़ रुपए प्राप्त किए।

केंद्र ने पूरी दिल्ली को रेड जोन में रखा है

उन्होंने कहा कि केंद्र ने पूरी दिल्ली को रेड जोन श्रेणी के तहत रखा है, जिसके चलते बाजार और मॉल नहीं खुल सकते। हमने केंद्र को सिर्फ उन इलाकों को सील करने का सुझाव दिया है, जहां कोरोना वायरस संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं और शेष इलाकों में सभी गतिविधियों की इजाजत दी जा सकती है। उन्होंने कहा कि शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक लोगों की आवाजाही की इजाजत नहीं होगी, जैसा कि केंद्र ने सुझाव दिया है।

विवाह समारोह में 50 लोग हो सकते हैं शामिल

मुख्यमंत्री ने कहा कि सोमवार से सरकारी और निजी दफ्तर खुलेंगे लेकिन उड़ानों, मेट्रो और बसों पर पाबंदी जारी रहेगी। केजरीवाल ने ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली में ई-कॉमर्स पोर्टलों के जरिए जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति जारी रहेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि जरूरी सेवाओं से जुड़े दिल्ली सरकार के कार्यालय में सभी कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ काम करेंगे, जबकि निजी कार्यालय 33 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि मॉल, सिनेमा, सैलून, मार्केट कॉम्पलेक्स और दिल्ली मेट्रो बंद रहेगी जबकि आवश्यक वस्तुएं बेचने वाली दुकानें खुलेंगी। केजरीवाल ने कहा कि विवाह समारोह में 50 लोग जुट सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *